Followers

Friday, April 6, 2018

समाज हित में राजस्थान पुलिस की अपील आप सभी से

राजस्थान पुलिस :  सर्वसाधारण को सूचित हो ::-*
     
समस्त जिलो की आम जनता से राजस्थान पुलिस अनुरोध करती है कि जिले की सामाजिक समरसता और आपसी सौहाद्र को बनाए रखने के लिए कोई भी व्यक्ति, किसी भी वर्ग विशेष के समुदाय के विरुद्ध आपत्तिजनक टिप्पणी, भाषण या सोशल मीडिया में कोई आपत्तिजनक पोस्ट करता है या धार्मिक उन्माद फ़ैलाने वाले, या  साम्प्रदायिक द्वेश फ़ैलाने वाले, जातिगत घृणा फ़ैलाने वाले या मानव शरीर को निर्वस्त्र दिखाने वाले वीडियो /मैसेज/पोस्ट , करता है उसे शहर की अमन शांति भंग करने के आरोप में उसके विरुद्ध कठोर कानूनी कार्रवाई की जावेगी । इस संबंध में पुलिस प्रशासन द्वारा साइबर सेल की एक विशेष टीम गठित की गई है जो सोशल मीडिया के Facebook एवं WhatsApp के सभी ग्रुपों पर सूक्ष्मता से निगाह रख रही है

      अतः सभी WhatsApp के ग्रुप एडमिन अपने ग्रुप में जुड़े सभी सदस्यों को मैसेज के माध्यम से उन्हें समझाइश दी जाए कि ग्रुप में किसी भी तरह की आपत्तिजनक टिप्पणी नहीं की जाए,     
        आपत्तिजनक टिप्पणी करने वाले व्यक्ति के विरूद्ध सूचना प्रोद्योगिकी अधिनियम के अंतर्गत अपराध पंजीबद्ध कर कठोर वैद्यानिक कार्यवाही की जावेगी  साथ ही उसके ड्राइविंग लाइसेंस एवं शासन द्वारा विभिन्न योजनाओं के तहत मिलने वाली अन्य सुविधाओं से भी उन्हें वंचित किया जाएगा।

आदेशानुसार राजस्थान पुलिस


Tuesday, October 17, 2017

देवी-देवताओं की मूर्तियों को ऐसे सम्मान दें ....सुगना फाउंडेशन

सुगना फाउंडेशन आप सभी लोगो से आग्रह करती है घर पर इस वर्ष लाएं मिट्टी के श्री गणेश लक्ष्मी और करें विगत वर्ष की मूर्तियो का घर पर ही विसर्जन ।।


           🚩देवी-देवताओं की मूर्तियों को ऐसे सम्मान दें

               दो-चार दिन बाद दीपावली है। लगभग हर घर में श्रीगणेश और लक्ष्मीजी की मूर्ति नई आएगी। "तब पुरानी मूर्ति का क्या होगा?"
                  कुछ लोग तो प्रवाहित करते हैं और
       कुछ लोग?
                         अतः उन कुछ लोगों से हाथ जोड़कर विनती है कि कोई भी मूर्ति जिसकी साल भर पूजा करके आपने-अपने लिए बहुत कुछ माँगा उसको ऐसे ही किसी पेड़ के नीचे न रख कर आना और न ही किसी भी नदी या तालाब में सिरा कर आना ।

            जैसा कि विगत कुछ वर्षो से देखा जा रहा है कि पी ओ पी की मूर्तियों का चलन बढ़ गया है और बाजार में श्री लक्ष्मी गणेश जी की मूर्तियां भी इसी पी ओ पी की ही आ रही हैं । हम सभी को सचेत होना होगा पी ओ पी को न कहना होगा और मिट्टी को अपने घर लाकर पूजन करके घर पर ही विसर्जन कर गमले में पौधा लगाएं।

            सभी से निवेदन है कि सभी हिन्दू भाई एवं बहनों से आग्रह है कि घर में एक टब में थोडा गंगा या नर्मदा जल डाल कर उसमें मूर्ति रख कर फिर पानी से भर दें।
           एक या दो दिन में मूर्ति उसी में घुल जायेगी।
फिर उस मूर्ति घुले-जल को किसी गमले या पेड़ की जड़ में डाल सकते हैं ।

              एक प्रयास देवी- देवताओं की मूर्ति के उचित सम्मान के साथ विसर्जन और साथ ही साथ नदियों की स्वच्छता भी बनी रहेगी और हिन्दू धर्म मजाक का पात्र भी नही बनेंगा।

नोट- यदि उक्त  विचार से आप सहमत हों तो प्रतिक्रिया अवश्य दें व अपने आसपास के लोगों को भी जागरूक करें सुगना फाउंडेशन मेघलासिया